स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें

स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें

मंगलवार, 25 अक्तूबर 2011

दीपावली की शुभ कामनाएँ




दीपावली प्रकाश का पर्व है .  दीपावली का शाब्दिक अर्थ दीपों की पंक्ति से है .  इस पर्व को मनाये जाने के पीछे मान्यता यह रही है कि इसी दिन  भगवान राम चौदह वर्ष के वनवास के पश्चात अयोध्या वापस आये थे . उनके वापस आने की ख़ुशी में अयोध्या वासियों ने घी के दिए जलाये . तब से कार्तिक अमावस्या  की काली घनी रात हमेशा रोशनी से जगमगाई रहती है. यह पर्व  बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है या हम कह सकते है कि असत्य  पर सत्य की विजय का भी प्रतीक है.हमें भी इस पर्व के मूल भाव को समझकर अपने अन्दर के अंधकार को मिटाकर प्रकाश को अपनानना चाहिए .  

हमारे यहाँ लोग दीपावली के दिन घर घर जा कर अपने से बड़ो का आशीर्वाद जरुर लेते हैं .मैं भी अपने सभी ब्लॉगर साथियों से अनुरोध करती हूँ कि वे भी अपने से बड़ो का आशीर्वाद अवश्य ले साथ ही मेरे जैसे ब्लॉग परिवार में आए  नए  सदस्यों को अपना आशीष देकर यूँ ही उत्साह वर्धन करते रहें.  

आप सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ. 


21 टिप्‍पणियां:

चैतन्य शर्मा ने कहा…

दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें... हैप्पी दीपावली..

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

आपको दीपावली की ढेरों शुभकामनाएं

Bhushan ने कहा…

आपको और आपके ब्लॉग से जुड़े नए सदस्यों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

Suresh kumar ने कहा…

Wishing you & your family a happy Deepawali........

Amrita Tanmay ने कहा…

अति सुन्दर....** दीप ऐसे जले कि तम के संग मन को भी प्रकाशित करे ***शुभ दीपावली **

विजयपाल कुरडिया ने कहा…

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये.....
मेरी और से भी बधाहिया स्वीकार कीजिये

Atul Shrivastava ने कहा…

आपको और आपके परिवार को दीप पर्व की शुभकामनाएं......

G.N.SHAW ने कहा…

इस दिवाली - के शुभ
अवसर पर -आप को सपरिवार --
दीपावली की ढेरो शुभकामनाएं !

Swarajya karun ने कहा…

ज्ञानवर्धक और सुंदर प्रस्तुतिकरण. आभार. ज्योति पर्व दीपावली आपके लिए और आपके परिवार के लिए मंगलमय हो. बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं

जाट देवता (संदीप पवाँर) ने कहा…

शुभ दीपावली,

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

सादर

वन्दना ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति…………दीप मोहब्बत का जलाओ तो कोई बात बने
नफ़रतों को दिल से मिटाओ तो कोई बात बने
हर चेहरे पर तबस्सुम खिलाओ तो कोई बात बने
हर पेट मे अनाज पहुँचाओ तो कोई बात बने
भ्रष्टाचार आतंक से आज़ाद कराओ तो कोई बात बने
प्रेम सौहार्द भरा हिन्दुस्तान फिर से बनाओ तो कोई बात बने
इस दीवाली प्रीत के दीप जलाओ तो कोई बात बने

आपको और आपके परिवार को दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें।

मदन शर्मा ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति.
दीपावली के शुभ पर्व पर मेरी तरफ से ...आपको और आपके परिवार को हार्दिक, ढेरों शुभ कामनाएँ

Er. Diwas Dinesh Gaur ने कहा…

आपको भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं|
यह दीपावली आपके जीवन में ढेरों खुशियाँ लेकर आए|

"दीपावली मनाई सुहानी, मेरे साईं के हाथों में जादू का पानी"
यह गीत मुझे बहुत पसंद है| कई बार सुनता हूँ इसे|

संजय भास्कर ने कहा…

आपको और आपके प्रियजनों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें….!

संजय भास्कर
आदत....मुस्कुराने की
पर आपका स्वागत है
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

संजय भास्कर ने कहा…

कुछ व्यक्तिगत कारणों से पिछले 20 दिनों से ब्लॉग से दूर था
देरी से पहुच पाया हूँ

mahendra verma ने कहा…

deepawali ki hardik shubhkamnayen.

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) ने कहा…

दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें.

Maheshwari kaneri ने कहा…

ज्ञानवर्धक और सुंदर प्रस्तुतिकरण....बधाई

bhola.krishna@gmail .com ने कहा…

रेखाजी , हम् आज पहली बार "मेरी बात" तक पहुंचे ! मधुर संगीत और लुभावने चित्रों से सुसज्जित आपके सभी आलेख अति रोचक लगे ! हम् भविष्य में भी इन्हें पढते रहें, यह हमारी इच्छा है! आगे "रामेच्छा" क्या है , वह तो राम ही जाने ! शुभकामनायें -- भोला कृष्णा

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

समय मिले तो मेरे एक नए ब्लाग "रोजनामचा" को देखें। कोशिश है कि रोज की एक बड़ी खबर जो कहीं अछूती रह जाती है, उससे आपको अवगत कराया जा सके।

http://dailyreportsonline.blogspot.com